Satyanarayan Bhagwan Katha, satyanarayan katha in marathi, Satyanarayan Katha in Hindi, Download satyanarayan Katha, Satyanarayan Katha Prasad, Satyanarayan Pooja, Satyanarayan Puja invitation card, Satyanarayan Vrat Katha, श्री सत्यनारायण कथा, free mp3
Go to group page

सत्यनारायण कथा विधि-SatyaNarayan Katha In Hindi-SatyaNarayan Katha and method-Satyanarayan katha vidhi hindi-Shri Satyanarayan Bhagwan Ki katha vidhi hindi

Thursday, 27 January 2011
सत्यनारायण व्रतकथापुस्तिका के प्रथम अध्याय में यह बताया गया है कि सत्यनारायण भगवान की पूजा कैसे की जाय।
जो व्यक्ति सत्यनारायण की पूजा का संकल्प लेते हैं उन्हें दिन भर व्रत रखना चाहिए। पूजन स्थल को गाय के गोबर से पवित्र करके वहां एक अल्पना बनाएं और उस पर पूजा की चौकी रखें। इस चौकी के चारों पाये के पास केले का वृक्ष लगाएं। इस चौकी पर ठाकुर जी और श्री सत्यनारायण की प्रतिमा स्थापित करें। पूजा करते समय सबसे पहले गणपति की पूजा करें फिर इन्द्रादि दशदिक्पाल की और क्रमश: पंच लोकपाल, सीता सहित राम, लक्ष्मण की, राधा कृष्ण की। इनकी पूजा के पश्चात ठाकुर जी व सत्यनारायण की पूजा करें। इसके बाद लक्ष्मी माता की और अंत में महादेव और ब्रह्मा जी की पूजा करें।

पूजा के बाद सभी देवों की आरती करें और चरणामृत लेकर प्रसाद वितरण करें। पुरोहित जी को दक्षिणा एवं वस्त्र दे व भोजन कराएं। पुराहित जी के भोजन के पश्चात उनसे आशीर्वाद लेकर आप स्वयं भोजन करें।

No files uploaded